एमएलसी चुनाव,रमाकांत नही करेंगे अपने पुत्र अरुण कान्त यादव का प्रचार

159

*कहा जनता के हाथ में है फैसला*, 

 

*आजमगढ़*। भारतीय जनता पार्टी ने आजमगढ़-मऊ विधान परिषद चुनाव के लिए भले सपा नेता रमाकांत यादव के पुत्र व फूलपुर पवई से पूर्व भाजपा विधायक रहे अरूणकांत यादव को प्रत्याशी बनाया है।पर उनके पिता व सपा विधायक रमाकांत बेटे का प्रचार नही करेंगे।ऐसे में सविधान परिषद का मुकाबला इस बार कांटे का होता दिख रहा है।होली के दिन रमाकांत यादव ने विवादित बयान देते हुए कहा था कि होली हम लोगों का त्योहार नहीं।रमाकांत यादव ने सभी से डा.भीमराव अम्बेडकर जयंती मनाने की बात कही थी।इस बयान को लेकर रमाकांत यादव सुर्खियों में रहे।सपा विधायक रमाकांत यादव ने बेटे की मदद के सवाल पर कहा कि जिले की जनता के हाथ में फैसला है।रमाकांत यादव ने कहा कि हमारे लिए दोनों बच्चे बराबर हैं।भाजपा ने जहां रमाकांत यादव के बेटे अरूणकांत यादव को अपना प्रत्याशी बनाया है,वहीं समाजवादी पार्टी ने राकेश यादव गुड्डू को अपना प्रत्याशी बनाया है।हालांकि रमाकांत यादव ने सब कुछ जनता पर छोड़ दिया है। विधानसभा चुनाव के समय अपना नामांकन करने आए रमाकांत यादव ने कहा था कि बेटा मेरा है तो मेरे साथ रहेगा,पर अब बेटे का भाजपा से विधान परिषद का टिकट मिल गया है। ऐसे में अब देखना होगा कि पिता अपने बेटे की मदद करता है या नहीं।

 

*जाति बंधन टूटेगा,एकजुट होकर भाजपा के पक्ष में होगा मतदान-अरूणकांत*

परिषद के भाजपा प्रत्याशी अरूणकांत यादव का कहना है कि इस बार के चुनाव में जाति का बंधन टूटेगा।सभी लोग एकजुट होकर भाजपा के पक्ष में मतदान करेंगे।इसके पीछे का तर्क देते हुए अरूणकांत यादव ने बताया कि 2022 के विधानसभा चुनाव में जिले में भाजपा एक भी सीट जीत नहीं पाई है।ऐसे में सरकार और जनता के बीच कोई प्रतिनिधि नहीं है,जो जिले की जनता की बात सरकार तक पहुंचा सके।