कंबल वितरण तो एक बहाना था,परन्तु बड़ो बुर्जुगों का आशीर्वाद पाना था:संजय कुमार

229

मरदह गाजीपुर।क्षेत्र के मीरपुर गुलालसराय गांव में अनित्य क्रम में पूज्य माता रामराजी देवी का परिनिर्वाण दिवस व श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।जिसमें बौद्ध धर्म गुरूओं ने अनुयायीओं को पारित्राण पाठ एवं धम्मदेशना का उपदेश पाठ पढ़ाया।इस अवसर भन्ते शीलवचन गाजीपुर ने भक्तगणों से कहाँ कि बुद्ध किसी एक परिस्थिति तक सीमित नहीं हैं,वह हर किसी को मानवता के तहत मदद करने का संदेश देते हैं.आज समाज की व्यवस्था बदल चुकी हैं,लेकिन भगवान बुद्ध का संदेश वही है और हमारे जीवन में उसका एक विशेष स्थान रहा है।जीवन में हजारों लड़ाइयां जीतने से बेहतर स्वयं पर विजय प्राप्त करना है.अगर यह कर लिया तो फिर जीत हमेशा तुम्हारी होगी,इसे तुमसे कोई नहीं छीन सकता,जीवन में किसी उद्देश्य या लक्ष्य तक पहुंचने से ज्यादा महत्वपूर्ण उस यात्रा को अच्छे से संपन्न करना होता है,बुराई को बुराई से खत्म नहीं किया जा सकता.घृणा को सिर्फ प्रेम द्वारा ही समाप्त किया जा सकता है,यह एक अटूट सत्य है।सत्य के मार्ग पर चलते हुए व्यक्ति केवल दो ही गलतियां कर सकता है,पहली या तो पूरा रास्ता न तय करना, दूसरी या फिर शुरुआत ही न करना।भविष्य के बारे में मत सोचो और अतीत में मत उलझो सिर्फ वर्तमान पर ध्यान दो.जीवन में खुश रहने का यही एक सही रास्ता है।पूज्य माता रामराजी देवी के स्मृति में गांव के 150 जरूरतमंद लोगों को ठंड से निजात पाने के लिये कंबल वितरण मुख्य सेक्टर प्रभारी लखनऊ मंडल बसपा डा.सुशील कुमार मुन्ना के हाथों किया गया है।अंत में सभी भक्तजनों ने प्रसाद ग्रहण किया।इस मौके पर भन्ते सिद्धार्थ बोधगया,भन्ते धम्म फल,भन्ते विनय शील,भन्ते विक्रम बौद्ध,दूधनाथ यादव, डा.राकेशचन्द्र, संदीप कुमार,संजय कुमार सब इंस्पेक्टर, पुष्पा देवी,आकांक्षा राज,आयुषी राज,मोन्टी राज,संजय कुमार प्रधानाचार्य,अजीत कुमार,अभय कुमार,अजय कुमार,मोरार जी, विधानचन्द्र,शिवमूरत,महावीर,रमेश चौधरी,अजीत चौधरी,मनोज कुमार,जितेन्द्र कुमार,विरेन्द्र कुमार,आदि लोग मौजूद रहे।अंत में कार्यक्रम संयोजक संजय कुमार ने सभी के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि जरूरतमंद लोगों की सेवा से बड़ा कोई धर्म और पुनीत कार्य नहीं सभी सम्पन्न लोगों को ऐसा सेवा कार्य करना चाहिए।कहाँ कि कंबल वितरण तो एक बहाना था, परन्तु बड़ो बुर्जुगों का आशीर्वाद पाना था।