करोड़ों रूपए की कच्ची ईंटें बर्बाद होने से भठ्ठा मालिक चिंतित

13

प्रदेश सरकार से लगाई गुहार,टैक्स में दी जाएं छूट 

 

 

गाजीपुर।शनिवार को जनपद ईट निर्माता समिति की बैठक मरदह क्षेत्र के महाहर धाम शिव मंदिर परिसर में हुई।संगठन की मजबूती पर बल देते हुए जिला महामंत्री लल्लन सिंह कहा कि बीते जनवरी व फरवरी माह में बेमौसम हुए बारिश से ईट भट्ठों पर पथाई की हुई कच्ची ईट के गलने से इस व्यवसाय में काफी नुकसान हुआ है। प्रत्येक भट्ठों पर लगभग दो से तीन लाख पीस कच्ची ईट धराशाई हो गयी, जिससे प्रत्येक भठ्ठा स्वामी का लगभग तीन लाख रुपए का आर्थिक क्षति हुई है।कच्ची ईट गलने से दोबारा ईट पथाई होने से भठ्ठे में फुंकाई का कार्य विलम्ब से शुरू हो पायेगा।आगे बताया कि खनन निदेशक उ.प्र.शासन के पत्र के अनुसार विनिमयन शुल्क जमा किए बिना पथाई कार्य करना कानूनन अपराध है खनन निरीक्षक शशांक शर्मा ने समिति को बताया की जो भठ्ठा स्वामी शुल्क जमा नहीं किए हैं जल्द से जल्द जमा कर दें अन्यथा प्रशासन द्वारा ईट भट्ठों पर कच्ची ईट नष्ट कर दी जाएगी।साथ ही साथ भट्ठों पर बंदी की कार्रवाई भी सुनिश्चित कर दी जाएगी जिसकी पूरी जिम्मेदारी ईट भट्ठा स्वामीओं की होगी।आगे बैठक में सर्वसम्मत से निर्णय लिया गया कि कच्ची ईंटें गलने से नुकसान की भरपाई के लिए उत्तर प्रदेश सरकार से मांग किया की टैक्स में राहत देते हुए कुछ रियायत दी जाएं।साथ ही समस्त जनपद के ईट भट्ठा स्वामीओं से अपील किया की यथा शीघ्र विनियम कर शुल्क जमा कर दें।इस मौके पर मनोज सिंह,शिवबालक यादव, रामभजन यादव,जीऊत चौहान,पवन राय,राजकुमार सिंह, श्यामनरायण सिंह,निर्मल यादव, विनोद चौहान,सदानंद यादव आदि मौजूद रहे।