क्रिसमस-डे के अवसर पर सैंटाक्लॉज की वेशभूषा में बच्चे अद्भुत लग रहे

233

मरदह गाजीपुर।शिक्षा क्षेत्र के कबीरपुर गांव स्थित एस.टी.एस. इंटरनेशनल स्कूल में हर्ष और खुशी का उत्सव क्रिसमस-डे बड़े ही धूमधाम से मनाया गया।इस अवसर पर विद्यालय प्रांगण में क्रिसमस ट्री सजाया गया।बच्चों ने सेंटाक्लाज की वेशभूषा में जिंगल बेल जिंगल बेल की धुन पर मनमोहक डांस की प्रस्तुति की।विद्यालय का समूचा वातावरण ऐसा हो गया मानो खुद सैंटा क्लॉज बच्चों को प्यार देने धरा पर उतर आए हो।सैंटाक्लॉज की वेशभूषा में बच्चे अद्भुत लग रहे थे।बच्चों के द्वारा प्रभु यीशु के जन्म से संबंधित मनमोहक नाटक प्रस्तुत किए गए।सैंटाक्लॉज के स्वरूपों में सजे बच्चों ने क्लास रूम में साथियों को टॉफी व अन्य उपहार भेंट किए।अध्यापकों द्वारा बच्चों को प्रभु यीशु के जीवन पर आधारित कई रोचक प्रसंगों की जानकारी दी गई।विद्यालय के डायरेक्टर विशाल सिंह ने अपने वक्तव्य में कहा कि प्रभु यीशु ने जीवन पर्यंत मानवता की शिक्षा दी।मानवता की रक्षा के लिए उन्होंने अपना जीवन बलिदान कर दिया।ऐसे प्रभु से हर किसी को शिक्षा लेनी चाहिए एवं उनके दिखाए मार्ग पर चलकर उनके गुणों को आत्मसात करना चाहिए।।क्रोधित होकर हजारों गलत शब्द बोलने से अच्छा,मौन का वह एक शब्द है जो जीवन में शांति लाता है।इस मौके पर प्रबन्धक प्रमोद कुमार सिहं,अध्यक्ष माधुरी सिंह को अंगवस्त्रम् भेट कर सम्मानित किया गया।कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए प्रतिष्ठा सिंह ने बताया कि विद्यालय वार्षिक फनफेयर की मेजबानी की।इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि एसटीएस इंटरनेशनल स्कूल की अध्यक्ष श्रीमती माधुरी सिह रही।छात्र छात्राओं और शिक्षकों ने उत्साह और पूरे उत्साह के साथ भाग लिया।तरह-तरह के खेल और खाने के स्टॉल लगाए गए।6 फीट ऊंची सांता क्लॉज की प्रतिमा मुख्य आकर्षण थी।सभी छात्रों ने इसके साथ फोटो क्लिक करने का आनंद लिया।जैसे-जैसे दिन नजदीक आता गया, लोगों का उत्साह अपने-अपने पसंदीदा गानों की धुन पर थिरकने लगा।इस अवसर पर शाहीन परवीन, अमित वर्मा,की भूमिका सराहनीय रही।