खण्ड शिक्षाधिकारी रमेश श्रीवास्तव और दो अध्यापकों पर गिरी गाज,रिश्वतखोरी में हुए निलंबित

185

गाजीपुर।बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बुधवार को दो अध्यापकों को पैसा मांगने को लेकर वायरल ऑडियो का संज्ञान लेते हुए।दोनो अध्यापकों को निलंबित कर दिया है।प्राथमिक विद्यालय बड़सरा के अध्यापक राजेश सिंह का करंडा के खंड शिक्षाधिकारी रमेश श्रीवास्तव का नाम लेकर लेन-देन की बातचीत का ऑडियो वायरल हुआ था।जिसका संज्ञान लेते हुए जिला बेसिक शिक्षाधिकारी ने संबंधित खंड शिक्षा अधिकारी सहित शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगी थी।ये मामला करंडा विकास खंड के सोकनी कम्पोजिट विद्यालय की शिक्षिका ललिता देवी का 31 मार्च 2022 को रिटायरमेंट से संबंधित है।शिक्षिका का आरोप है कि खंड शिक्षाधिकारी ने रिकार्ड सही करने के एवज में 50 हजार रुपये की डिमांड की थी।इस मामले में अध्यापक राजेश सिंह फोन करके दबाव बना रहे थे।बताया गया कि शिक्षिका के बेटे ने ऑडियो वीडियो बना लिया।अभी यह मामला शांत भी नहीं हुआ था कि करंडा ब्लॉक के शिक्षकों ने सामूहिक रुप से शिकायत पत्र जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को देकर खंड शिक्षाधिकारी रमेश श्रीवास्तव पर आरोप लगाया कि विद्यालय निरीक्षण के दौरान कम्पोजिट ग्रांट का 10% रिश्वत की मांग की जाती है।सूत्र बताते हैं कि खंड शिक्षा अधिकारी रमेश श्रीवास्तव और उनकी रिश्वतखोर टीम मे कई शिक्षक शिक्षिका के नाम जल्द ही उजागर होंगे।शासन द्वारा विद्यालय पर भेजे गए कम्पोजिट ग्रांट में मनोज सिंह का भी रिश्वत के रूप में पैसे मांगने का ऑडियो वायरल हो गया।बेसिक शिक्षाधिकारी हेमंत राव ने मीडिया को बताया कि खण्ड शिक्षाधिकारी करण्डा रमेश श्रीवास्तव,अध्यापक राजेश सिंह और मनोज सिंह को निलंबित कर दिया गया है।जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।