खुशी हो या गम,पेड़ लगाये हम- अरविन्द आजाद्

157

जखनियां गाजीपुर।विकास की अंधी दौड़ में हम जाने अनजाने में अपने परिवेश को काफी नुकसान पहुंचा रहा है। पर देश में कई ऐसे लोग भी हैं जो अपने प्रयासों से इस वसुंधरा को हरा-भरा बनाए रखने की कोशिश में जुटे हैं।रूबरू होते हैं जखनियां विकासखंड के मुडि़यारी ग्राम निवासी पर्यावरणविद् से जो पर्यावरण बचाने का प्रयास कर मिसाल कायम कर रहे हैं। ग्रीन मैन आफ गाजीपुर के नाम से जाने जाये वाले अरविन्द कुमार आजाद, उन्होने जीवन में पेड़ बचाने और लगाने की ठान ली है।उनके इसी कार्य ने उनको ग्रीन मैन बना दिया है।वे लोगों को पेड़ लगाने की प्रेरणा देते आ रहे हैं।स्कूलों में बच्चों को उनके जन्मदिन पर एक एक पौधा लगाकर उसकी देखभाल करना पर्यावरण संरक्षण व जागरुकता का सबसे सुलभ तरीका बताते हैं।उनका मानना है की हमारे देश की धरोहर बच्चे हैं अगर बच्चे पर्यावरण के प्रति जागरुक हो गये तो हमारी धरा स्वतः हरी भरी हो जायेगी।शादी समारोहों में भी पौधे का गिफ्ट करते हैं।पर्यावरण संरक्षण की इस अनोखे अंदाज की मुहिम से भी लोग प्रेरित होते हैं।किसी के यहां बच्चे का जन्मदिन हो तो उसे पौधा देकर बच्चे के नाम से रोपने को कहते हैं।इसके साथ ही साथ दुर्लभ पेडो़ को भी उगाने का कर रहे हैं प्रयास।उन्होने बताया कि सामाजिक संस्था रुलर डेवलपमेंट एंड रिसर्च फाउंडेशन के तत्वाधान में अब पौधारोपण व पर्यावरण संरक्षण के लिए ग्रामीणों को जागरूक किया जा रहा है।गांव में किसी की मृत्यु होने पर परिजन उसकी याद में एक पौधा लगाकर देख-भाल करेगा।