डीआईओएस कार्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार हो दूर:चौधरी दिनेश चंद्र

161

शिक्षको ने लगाया आरोप- भ्रष्टाचार में लिप्त माध्यमिक शिक्षा विभाग

 

गाजीपुर।माध्यमिक शिक्षक संघ जिला इकाई की बैठक में चौधरी दिनेशचंद्र राय ने जिले के पदाधिकारियों को उनके दायित्वों की ओर ध्यान आकृष्ट कराते हुए कहा कि माध्यमिक शिक्षा विभाग में घोर भ्रष्टाचार है।उन्होंने पदाधिकारियों को जिविनि कार्यालय पर पैनी नजर रखने की नसीहत दी।उन्होंने एकजुटता से संघर्ष किये जाने की वकालत की। कहा कि जिला विद्यालय निरीक्षक के दायित्वों के अतिरिक्त अन्य महत्वपूर्ण कार्यों में व्यस्तता के चलते कार्यालय में पूर्ण समय न देने के कारण कार्यालय में आपाधापी का माहौल है।आरोप लगाते हुए कहा कि खुलेआम भ्रष्टाचार व्याप्त है।वेतन,एरियर बिल पारित किए जाने में रुपए की मांग की जा रही है।जो संस्थाएं रुपए नहीं दे रही हैं उनके बिल पारित नहीं किए जा रहे हैं। जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार, अवशेष धनराशि के पत्रावलीयों को आगे प्रेषित ना करना, अवकाश प्राप्त शिक्षकों की पत्रावली समया अंतर्गत जे डी कार्यालय वाराणसी को प्रेषित ना करना,नवनियुक्त शिक्षकों के वेतन भुगतान पर धन वसूली, चयनित अध्यापकों के कुछ ऐसे मामले अभी तक लंबित हैं।जिन्हें पदभार ग्रहण नहीं कराया गया है।इसके साथ ही वाहय केंद्र व्यवस्थापक की ड्यूटी में दूरी का ध्यान नहीं रखा गया है।जिससे शिक्षकों में आक्रोश है।जनपदीय संगठन की गतिविधियों पर भी गंभीरता से विचार करते हुए ठोस निर्णय लिया गया।बैठक में सर्व नारायण उपाध्याय,चौधरी दिनेश चंद्र राय,अनिल कुमार दुबे,जय शंकर राय,दीपक खरवार,नरेंद्र कुमार सिंह,सूर्यप्रकाश राय, अविनाश सिंह गौतम,अभिषेक राय,रत्नेश राय,सत्येंद्र सिंह, पुष्कल तिवारी,पूजा गुप्ता,पंकज राय,उमेशचंद्र राय,डॉ रियाज अहमद,राकेश राय,अब्दुल अहद खा,सनी कुमार गुप्ता,दलजीत यादव,वीरेंद्र राम,आदि प्रमुख रूप से थे।कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष शिवकुमार सिंह व संचालन जिला संगठन मंत्री अमित कुमार राय ने किया।