दहेज कड़वा है लेकिन सच है…..

161

जब कोई औरत जिस्म बेचती हैं तो उसे वैश्या नाम दिया जाता है !!

और वही कोई दहेज लेकर शादी करता है !!

तो वो भी तो खुद को बेचता है !!

तो उसे क्या नाम दिया जाय !!

 

अफसोस हमारे देश में दहेज के खिलाफ कितने कानुन बने

लेकिन सब कानुन सिर्फ फाइलो तक ही बन्द हो कर रह गया !!

और दहेज लेने वाले अपनी मनमानी खुब तेजी से कर रहे है

और तो और आज कल जो दहेज लेकर अपने बेटे की शादी कर रहे है !!

उनका नाम भी बहुत हो रहा है !!

हर कोई ये कहता है की देखो उनके बेटे की शादी मे कितना दहेज मीला है !!

हम ऐसे समाज का हिस्सा हैं जहा गलत होते हुऐ देख कर भी लोग चुप रह जाते हैं !!

और दहेज के लालची अपना सीना तान कर चलते हैं !!

अपने बेटे की बोली लगाते हैं !!

लेकिन अफसोस की आज कल के पढ़े लिखे लड़के भी

इसमें सामील है !!

अगर आजकल के लड़के चाहे की हमे दहेज नहीं लेना है

तो हो सकता है !!

कि कुछ हद बेटियों के माँ बाप भी सुकुन की निंद सो पायेगे अगर किसी का बेटा कुछ कमाने वाला हो तो वो तो बहुत अच्छी तरह से वसुलते हैं !!

लड़की वालो से अपने बेटे की नीलामी करते है !!

 

बेटियों के माँ बाप भी पढ़ाते है !!

उन्हे बेटियाँ भी अपने पैर पर खड़ी है !!

फिर भी दहेज देना पड़ता हैं !!

 

दहेज के डर से ही माँऐ अपने गर्भ मे ही अपनी बेटियों को मार देती है !!

क्योंकि बिना दहेज के कही शादी नही हो सकती अगर किसी तरह के भी गयी तो जिदंगी भर सास ससुर के ताने सुनने को मिलेगा !!

 

कभी कभी तो जिंदगी से भी हाथ धोना पड़ जाता हैं !!

बेटियों के माँ बाप बेटी के जन्म से उसकी शादी के लिए दहेज के लिए एक एक पैसे जोड़ना सुरू कर देते हैं !!

 

खत्म करिये ऐसा रिवाज !!

दहेज ना लेंगे और ना लेने देंगे !!

ये सोच क्यों ना हो हम सबका !!

मीना सिंह राठौर🖊

उत्तर प्रदेश