पंजीकृत श्रमिकों को मिलेगा भरण पोषण भत्ता,आकांक्षा सेवा संस्थान फेफरा ने लगाया कैम्प 

221

मरदह गाजीपुर।असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को पांच सौ रुपये प्रतिमाह भरण पोषण भत्ता दिया जाएगा। प्रत्येक श्रमिकों को एक-एक हजार की दो किस्तें मिलेंगी।कोरोना महामारी की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए ऐसा निर्णय लिया गया है।इस बाबत शासनादेश जारी कर दिया गया है।भुगतान डीबीटी से किया जाएगा।वास्तव में,कोरोना के चलते दो वर्षों से श्रमिकों के सामने आजीविका का संकट बना हुआ है। अब,कोरोना की तीसरी लहर की आशंका खड़ी हो रही है।ऐसे में सरकार ने दिसंबर से मार्च तक श्रमिकों को भरण-पोषण भत्ता देने का निर्णय लिया है।इस योजना में किसान सम्मान निधि के लाभार्थी रहेंगे बाहर। विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक जिन श्रमिकों को किसान सम्मान निधि या इस तरह की अन्य किसी भी योजना का लाभ मिल रहा है,उन्हें इसका लाभ नहीं दिया।मिलेंगे 500 रुपये, दिसंबर से मार्च तक मिलेगा लाभ।31 दिसंबर तक पंजीकरण कराने वाले श्रमिकों को इसका लाभ दिया जाएगा।श्रमिकों को चाहिए कि ई-श्रम पोर्टल पर अधिक से अधिक पंजीकरण कराएं।इसके अतिरिक्त आने वाले समय में भी पंजीकरण का लाभ भी प्राप्त हो सकेंगे।योजना और गतिशील बनाते हुए आकांक्षा सेवा संस्थान फेफरा के तत्त्वाधान में 27.28.29.30.31 जनवरी तक कैम्प का आयोजन करके गांव के जरूरतमंद लोगों को पंजीकरण के माध्यम से इस योजना का लाभ पहुंचाने का कार्य किया जाएगा।पहले दिन सोमवार को गांव के दर्जनों लोगों का पंजीकरण किया गया।इस मौके पर आकांक्षा सेवा संस्थान की उपाध्यक्ष श्रीमति ललितकला सिंह सरकार की योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए हम अपनी संस्था के माध्यम से जागरूक करते हुए लाभ दिलाने प्रयास कर रहे हैं।जिससे जरूरमंद लोग इसका लाभ लेते हुये आत्मनिर्भर बने।इस अवसर पर मधुकला सिंह,अभिषेक राजभर,सुरज राजभर,श्रवण राजभर,अनुप राजभर,दिपू मौर्या उपस्थित रहे।