पछुआ हवा से बढ़ी गलन, जनजीवन अस्त-व्यस्त

155

मरदह गाजीपुर।पिछले तीन दिनों से धूप निकलने के बावजूद पहुआ हवा ने गलन बढ़ा दी है।इसके चलते आम जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है।आलू व मटर की फसल पाला से प्रभावित होने की आशंका है।ग्रामीण क्षेत्रों में अलाव की व्यवस्था न होने से लोग ठंड से परेशान हैं।सार्वजनिक स्थानों सहित बस स्टैंडों पर लोग ठिठुरते नजर आए।सोमवार को अधिकतम तापमान 18 व न्यूनतम तापमान सात डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।मौसम में लगातार हो रहे बदलाव से ठंड के साथ गलन बढ़ गई है।सुबह-शाम गलन और कोहरे का कहर जारी है।सोमवार की सुबह दस बजे घना कोहरा छाया रहा जो दिन चढ़ने के साथ कम होता गया।गाजीपुर-वाराणसी हाईवे पर चालकों को वाहनों की हेडलाइट जलाकर धीमी गति से चलना पड़ा।धूप के बावजूद वातावरण में गलन होने से जनजीवन प्रभावित रहा।धूप निकलने के बाद लोगों को थोड़ी राहत मिली लेकिन गलन बरकरार रही। बाजारों के अलावा बस स्टैंडों और सार्वजनिक स्थानों पर अलाव की व्यवस्था नहीं है।ठंड व पाला से फसलों को नुकसान।गलन से ठंड का प्रकोप बढ़ गया है। आलू,मटर,प्याज की नर्सरी को पाला लगने का खतरा बढ़ गया है।ठंड और कोहरा मसूर,चना व सरसों के लिए काफी लाभदायक है।कोहरे से मसूर का विकास होता है लेकिन आलू व मटर को काफी नुकसान पहुंचने का खतरा रहता है।अत्यधिक ठंड से आलू के पौधे झुलस जाते हैं,वहीं मटर के पौधे सफेद होकर झुलसने लगते हैं।