पत्रकारों ने श्री भट्ट को याद कर दी श्रद्धांजलि

139

जखनियां। गाजीपुर। स्थानी शिव मंदिर पर पत्रकारों ने एक आवश्यक बैठक कर जनपद के वयोवृद्ध पत्रकार शंभू नाथ भट्ट के निधन पर अपनी भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की ।तहसील के वरिष्ठ पत्रकार सतीश जायसवाल ने कहा कि श्री भट्ट अपने जीवन में निष्पक्ष और धारदार पत्रकारिता की जो मिसाल प्रस्तुत कर गए वह आज हम सभी पत्रकारों के लिए एक प्रेरणादायक है। ब्रिटिश हुकूमत काल से लेकर मरते दम तक पत्रकारिता के माध्यम से अपनी कलम की धार को निर्बाध गति प्रदान करने वाले ‌शंभूनाथ भट्ट जी एक कीर्तिमान स्तंभ थे ।20 वर्षों तक राष्ट्रीय हिंदी दैनिक जागरण में बतौर पत्रकार रहे श्री भाटृ जी अपने रेलवे सेवाकाल के दौरान वाराणसी के पत्रकार पराड़कर जी से संपर्क में आने के बाद उन्हीं के द्वारा प्रकाशित अखबार रणभेरी को निर्भीकता से अंग्रेज अधिकारियों के के बंगले पर फेंककर अपनी देशभक्ति और निर्भीक पत्रकारिता की मिसाल प्रस्तुत कर गए। गौरी शंकर पांडेय सरस ने कहा कि अपने चुटीले अंदाज और बेबाकी के लिए लोगों में खासकर पत्रकारों में लोकप्रिय रहे शंभूनाथ भट्ट जी का पत्रकारिता जीवन सफर राष्ट्रीय हिंदी दैनिक आज से शुरू हुआ और अनेक समाचार पत्रों तक अपनी अमिट छाप छोड़ा। राधेश्याम जायसवाल ने कहा कि जिला पत्रकार समिति के संरक्षक रहे शंभूनाथ भट्ट जी का पत्र और पत्रिकारो के साथ गहरा और आत्मीय लगाव था।इस मौके पर संजय चौबे, भुवन जायसवाल,गोपाल पाण्डेय,रमेश यादव,रमेश सोनी आदि उपस्थित थे। अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार राधेश्याम जायसवाल तथा संचालन गौरीशंकर पाण्डेय ने किया।