पशु शिविर में बोले राधेश्याम यादव:मानव समाज में पशुधन मुख्य व्यवसाय चिकित्सक परामर्श जरूरी

167

पशु आरोग्य शिविर मेला व गोष्ठी का आयोजन मटेहूँ गाँव में संपन्न

 

मरदह गाजीपुर।ब्लाक के मटेहूँ गांव स्थित बऊरहवां मंदिर परिसर में बुधवार को पंडित दीनदयाल उपाध्याय पशु आरोग्य शिविर मेला व गोष्ठी का आयोजन किया गया था।मुख्य अतिथि प्रधान संघ के ब्लाक अध्यक्ष राधेश्याम यादव ने दीप प्रज्वलित कर किया।तथा अपने संबोधन में कहा कि मानव समाज में पशुधन आज एक मुख्य व्यवसाय है के रूप में विकसित हो चुका है,इस कारण पशुपालकों के लिए आवश्यक है कि वे पशुपालन से सम्बधित स्वास्थ्य विषय पर मुख्य जानकारी चिकित्सक से हासिल करते रहे जिससे वह पशुपालन के व्यवसाय में अधिक से अधिक लाभ पा सके।इस मेले में मरदह पशु चिकित्साधिकारी डॉ.चंद्रकांत सिंह पशुपालकों पशुओं के रख रखाव व मौसमी बीमारियों के बारे में विस्तृत जानकारी में थनैला रोग के लक्षण,रोकथाम उपचार एवं पशुधन के उचित प्रबंधन से किसानों की आय दोगुनी इत्यादि जैसी सुविधाओं को बताने का काम किया,किसानों को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा दी जा रही सरकारी योजनाओं के बारे में भी बताया।तथा सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं को विस्तार पूर्वक प्रकाश डाला।शिविर में 317 बड़े पशुओं 1564 छोटे पशु का परीक्षण के साथ ही दवा वितरण,हेल्थ कार्ड वितरण सरकार की योजना के अनुसार नि:शुल्क किया गया।

तथा दर्जनों पशुओं का कीड़े का टीकाकरण भी किया गया।इस मौके पर डॉ.विजयनाथ पशु चिकित्सालय गांई,सुहेल अहमद वेटरनरी फार्मासिस्ट,मनोज चौहान,रामजीत,मोहित,दशरथ, अरविन्द,सीताराम यादव, अजय कुमार श्रीवास्तव आदि लोग मौजूद रहे।