प्रदेश के इस गांव में आजादी के बाद से नहीं हुआ कोई अपराध, नाम जान हो जाएंगे हैरान

173

⚡मेरठ . जिला मुख्यालय से करीब 20 किमी दूर थाना दौराला क्षेत्र का एक गांव पूरे प्रदेश के लिए मिसाल बना हुआ है। हालांकि ये गांव एक दूसरे बड़े गांव का मजरा है। लेकिन ये अब बड़ा हो गया है और यहां पर ग्रामीणों को वो सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं जो दूसरे गांव के लोगों को हैं। इस गांव में आजादी के बाद से आज तक किसी प्रकार का कोई अपराध नहीं हुआ है। इस मामले में ये मेरठ ही नहीं पूरे पश्चिमी उप्र और प्रदेश में पहला ऐसा गांव है जो पूरी तरह से अपराध मुक्त है।

⚡भाजपा राज में भले ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रदेश को अपराधमुक्त करने के दावे करते हो। लेकिन मेरठ का ये गांव आजादी के बाद से आज तक आई सभी सरकारों के गाल पर एक तमाचा है। जो कि सरकारी दांवों के बीच खुद अपने आप में अपराध मुक्त बना हुआ है। अपराध के मामले में बात पश्चिमी उप्र की करें या पूरे प्रदेश की। पुलिस द्वारा सैकड़ों एनकाउंटर और बदमाशों की धरपकड़ के बाद भी अपराध कम नहीं हुए। लेकिन इस गांव के लोगों का अपराध का नाता कोसो दूर है।

 

*भैंस चोरी के अलावा नहीं दर्ज हुआ थाने में कोई केस* 

⚡गांव के ही शमशेर सिंह बताते हैं कि उनके गांव बहादुरपुर में आजादी के बाद से किसी प्रकार का कोई अपराध नहीं हुआ। उन्होंने बताया कि 6 साल पहले यानी 2015 में भैंस चोरी की एक घटना हुई थी। उसके बाद से और कोई घटना नहीं हुई।

 

*अधिकांश युवा सेना में या पुलिस विभाग में* 

⚡गांव की आबादी के अधिकांश युवा या तो सेना में हैं या फिर पुलिस विभाग में तैनात हैं। गांव में शिक्षा का स्तर काफी बेहतर है। बहादुरपुर कोरोना टीकाकरण में भी मेरठ में सबसे अव्वल था। वर्तमान में 60 से ज्यादा परिवार हैं। आबादी 700-750 के बीच है। 400 से अधिक मतदाता हैं। गांव के सुरेश 1994 और डॉ. यशपाल 2000 में प्रधान रह चुके हैं। कई बुजुर्ग सरकारी नौकरी से सेवानिवृत्त हैं। उनके बच्चे भी आर्मी, बीएसएफ, पुलिस और शिक्षा विभाग में कार्यरत हैं।

 

*लंदन में डाक्टर तो आस्ट्रेलिया में इंजीनियर* 

⚡सेवानिवृत्त कैप्टन सुरेंद्र सिंह की माने तो गांव निवासी युवक आनंद लंदन में डाक्टर हैं। एक अन्य युवक अजय आस्ट्रेलिया में इंजीनियर हैं। कर्मवीर आर्मी में कर्नल हैं। उनके बेटे मेजर आदित्य शौर्य चक्र से सम्मानित हो चुके हैं। गांव में कई परिवार कृषि पर निर्भर हैं। इनके पास करीब 800 बीघा जमीन है।