प्रधानाध्यापक स्व.रणजीत सिंह की द्वितीय पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्धांजलि 

201

मरदह गाजीपुर।पूर्व प्रधानाध्यापक स्व.रणजीत सिंह की द्वितीय पुण्यतिथि के अवसर पर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।पृथ्वीपुर गांव के मूलनिवासी बहुमुखी व्यक्तित्व के धनी पूर्व प्रधानाध्यापक पूर्व सदस्य नेशनल इंटर कॉलेज एवं महाविद्यालय के आजीवन सदस्य तथा क्षत्रिय सेवा न्यास मोर्चा के पूर्व सदस्य रह चुके रणजीत सिंह की दूसरी पुण्यतिथि परिजनों और रिश्तेदारों के बीच मनाई गई कोविड-19 को ध्यान में रखते हुए साधारण ढंग से कार्यक्रम का आयोजन किया गया।इस कार्यक्रम में स्व.रणजीत सिंह के पुत्र अशोक कुमार सिंह ने विचार रखते हुए कहा कि बाबूजी का पूरा जीवन प्राथमिक शिक्षा को मजबूत करने और सामाजिक कार्यों के प्रति समर्पित रहा उन्होंने लगभग 39 वर्षों तक महाहार धाम जैसे पावन स्थान से अपने सेवा को प्रारंभ करके और निरंतर तीन पीढ़ियों के लोगों को शिक्षा दीक्षा देकर उनके जीवन को कृतार्थ किया उनके पढ़ाएं हुए शिष्य आज लगभग सभी क्षेत्रों में अपना परचम लहरा रहे हैं।और अपना लोहा मनवा रहे हैं।चाहे वह कोई भी क्षेत्र हो शैक्षिक सामाजिक राजनैतिक सांस्कृतिक आर्थिक और लगभग सभी क्षेत्रों में अपनी विशिष्ट योग्यताओं का परिचय दे रहे हैं।उन्होंने कहा कि बाबूजी के पढ़ाई हुए शिशुओं में शिष्य पंडित राजेंद्र चतुर्वेदी पूर्व शिक्षक एवं प्रबंधक शंभू नारायण महाविद्यालय एवं पंडित मार्कंडेय चतुर्वेदी शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान हरहरी,सूबेदार यादव प्रधान गोविंदपुर कीरत एवं प्रधानाचार्य राधाकृष्ण इंटर कॉलेज,जगन्नाथ सिंह प्रबंधक हरिवंशी द्वारिका कॉलेज आफ एजुकेशन,इंद्रासन यादव प्रबंधक स्व. पुरुषोत्तम स्नातकोत्तर महाविद्यालय हालपुर,मृत्युंजय सिंह न्यायाधीश जिला एवं सत्र न्यायालय बेगूसराय बिहार,उमाशंकर सिंह आईएस,परमानंद प्रजापति कृषि निदेशक उत्तराखंड सरकार,अनिल कुमार सिंह कृषि वैज्ञानिक,शिवलाल यादव वर्तमान ग्राम प्रधान सुलेमापुर,वशिष्ठ शर्मा पूर्व ग्राम प्रधान सुलेमापुर,स्व. विक्रमा यादव भूतपूर्व ग्राम प्रधान सुलेमापुर,अवधू यादव पूर्व ग्राम प्रधान दुर्खुर्शी,नामीनाथ गिरी पूर्व ग्राम प्रधान दुर्खुर्शी,तेजबहादुर राजभर वर्तमान ग्राम प्रधान प्रतिनिधि दुर्खुर्शी,वीरेंद्र यादव वर्तमान ग्राम प्रधान डंडापुर,वर्तमान ग्राम प्रधान सराय मुबारक सत्येन्द्र कन्नौजिया और ऐसे अनेकों गणमान्य लोगों को शिक्षा दीक्षा देकर उनके जीवन को कृतार्थ किया।अन्य वक्ताओं में विचार रखने वालों में उनके रिश्तेदारों में उनके बड़े दामाद राजकुमार सिंह,राजेश सिंह,विनोद कुमार सिंह,अखिलानंद सिंह,सहित अन्य लोगों की मौजूदगी रही।अंत में कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए सब के प्रति आभार व्यक्त करते हुए उनके

सुपौत्र सामाजिक कार्यकर्ता नवीन सिंह ने कहा कि अगर कोरोना की स्थितियां ठीक रही अगले वर्ष स्मृति शेष दादाजी की याद में जिला स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन उनके द्वारा उनकी स्मृति में महाहर धाम में आयोजित कराया जाएगा।