बिना परमिट के सैकड़ों वाहन रोज भर रहे फर्राटा परिवहन विभाग को लाखों का नुकसान  

201

मरदह।बिना परमिट के वाहनों की बेकाबू रफ्तार- राष्ट्रीय राजमार्ग व लिंक मार्गो पर बिना परमिट वाले सैकड़ों वाहनों की रफ्तार बेकाबू है- विभागीय जिम्मेदारों की उदासीनता व क्षेत्र के थाना कारखासों कि वजह से न सिर्फ परिवहन निगम को हर दिन लाखों का चूना लग रहा है बल्कि यात्रियों के लिए जानलेवा के साथ ही आर्थिक क्षति साबित हो रही है।दिनों दिन इनकी संख्या में इजाफा हो रहा है प्रतिदिन जिला मुख्यालय से सैकड़ों कि संख्या में जीप,सूमो, मिनी बसें, टाटा मैजिक, आटो, व बड़ी बसें मऊ जा रही है और आ रही है।वहीं दूसरी ओर गाजीपुर से मऊ ,मटेहूँ चट्टी से सलामतपुर चट्टी,हैदरगंज चट्टी से नखतपुर गांव, मरदह चट्टी से जलालाबाद चट्टी, मरदह से कासीमाबाद,मरदह से महाहर धाम,मरदह से कोड़री, भड़सर से वेदबिहारी पोखरा,बरही से बोगना,बिरनो से बौरी गांव, के लिए निकलती हैं जिनके पास राजमार्ग पर वाहन चलाने का परमिट के साथ ही डाईबरी लाइसेन्स भी नहीं होता है ।रोडवेज द्वारा निर्धारित स्टापेज पर ही सैकड़ों प्राइवेट वाहन रूककर यात्रियों को अपने वाहन में बैठा लेते है इससे निगम को भी भारी नुकसान हो रहा है यही नहीं द्रुत गति से चलने वाले यात्रियों के लिए भी काफी खतरनाक सिद्व हो रहे हैं ।यात्रियों के बार बार कहने के बावजूद भी चालक तेजगति में वाहन दौड़ाते है।जिससे छोटी बड़ी घटनाओं प्रतिदिन हो रही है ।जिसके बाद भी आरटीओ पुलिस प्रशासन सक्रियता नहीं दिखाता जिससे ऐसे अवैध वाहन व चालकों पर अंकुश नहीं लग पा रहा है।प्रतिदिन नाबालिक चालकों कि संख्या में प्रतिदिन इजाफा हो रहा है तो वहीं दूसरी क्षमता से अधिक सवारियों को बैठाया जा रहा,जिससे छोटी बड़ी सड़क दुर्घटना भी हो रही है।इस समय पूरा अमला चुनाव में व्यस्त हैं तो वही दूसरी ओर डगामार वाहन तेजी के साथ सड़क पर फर्राटा भर रहे हैं।

 

 

फोटो परिचय : मरदह बस स्टैंड पर बेतरतीब तरीके से बीच सड़क पर खड़े वाहन जो दुर्घटना को दावत दे रहे