मनाई गई शहीद निरंजन राजभर की 19 वीं पुण्यतिथि

151

बिरनो गाज़ीपुर:बिरनो ब्लाक परिसर में मंगलवार को शहीद निरंजन राजभर की 19 वीं पुण्यतिथि बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एमएलसी विशाल सिंह चंचल विशिष्ट अतिथि जंगीपुर विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी कुंवर रमेश सिंह पप्पू रहे।मुख्य अतिथि ने परिसर में स्थित शहीद निरंजन राजभर के मूर्ति पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित कर कार्यक्रम की शुरुआत की।शहीद निरंजन राजभर का जन्म 6 जनवरी 1954 बिरनो गांव में स्व.दौलत राजभर के घर में हुआ था इनकी माता का नाम जलेबीया देवी और इन्होंने शिवकुमार शास्त्री इंटर कॉलेज जंगीपुर से इंटर की परीक्षा पास कर बीएसएफ में 6 जनवरी 1975 को भर्ती हो गए और 4 जनवरी 2003 को रात्रि 9:00 बजे धाम कुंड श्रीनगर में शहीद हो गए मरणोपरांत 29 अप्रैल 2004 को राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम ने सेना मेडल देकर सम्मानित किया।मुख्य अतिथि विशाल सिंह चंचल ने कहा कि यह गाजीपुर की धरती शहीदों की धरती है जब-जब देश खतरे में पड़ा है तब – तब गाजीपुर के नौजवानों ने अपने प्राणों की आहुति देकर मां भारती के आंचल में चीरनिंद्रा में सो जाते हैं। लेकिन अपने भारत मां के आंचल में दाग नहीं लगने देते हैं।ऐसे वीर शहीद जवान के मां बाप को भी मैं प्रणाम करता हूं कि उन्होंने ऐसे वीर सपूत को पैदा किया जो अपने देश के काम आये ऐसे शहीद परिवार को हमें समाज में उचित का स्थान देकर सम्मान करना चाहिए और उनके सम्मान में कहीं कमी ना आए इसका भी हम सबको ख्याल करना चाहिए क्योंकि जो शहीद होता है वह अपने लिए नहीं शहीद होता है। वह पूरे देश के लिए शहीद होता है।और यह फक्र की बात होती है।उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय सेना में अगर सर्वाधिक कोई जनपद का नौजवान भर्ती होता है तो उसमें सर्वप्रथम नाम गाजीपुर जनपद का आता है और यह बड़े ही गर्व की बात होती है।इस अवसर पर शहीद की पत्नी को मुख्य अतिथि व विशिष्ट अतिथियों द्वारा माल्यार्पण कर सम्मानित किया गया।

इस मौके पर ब्लॉक प्रमुख राजन सिंह,जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि देवेंद्र यादव उर्फ मटरू,ग्राम प्रधान प्रतिनिधि गुड्डू गुप्ता,विजय नारायण चौहान,ग्राम प्रधान प्रतिनिधि संतोष यादव,मनु राजभर,अमरनाथ राजभर, लालू राजभर,सुरेंद्र चौहान,कार्यक्रम की अध्यक्षता मुखदेव राजभर व संचालन रामनारायण राजभर ने किया अंत में शहीद के पुत्र कैलाश राजभर ने आए हुए सभी आगंतुकों के प्रति आभार व्यक्त किया।