मेदनीपुर कांड में पुलिस प्रशासन द्वारा एकतरफा कार्रवाई बर्दाश्त नहीं राजकुमार सिंह

179

गाजीपुर।अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा युवा गाजीपुर के जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल पुलिस उपाधीक्षक ग्रामीण से मिलकर एक पत्र सौंपा इस मौके पर जिलाध्यक्ष ने बताया कि 23 दिसंबर को कालूपुर चट्टी पर जनसंख्या समाधान यात्रा के दरमियान फाउंडेशन और ग्रामीणों के बीच हुई विवाद काफी दुखद और निंदनीय है।लेकिन महोदय इस विवाद में फाउंडेशन के लोगों द्वारा पहले स्थानीय निवासी अखंड प्रताप सिंह के साथ मारपीट एवं गाली-गलौच हुआ तथा उसको बुरी तरह मारा-पीटा गया जिसकी वजह से यह पूरा मामला बिगड़ा तथा उसके पश्चात फाउंडेशन के लोगों और ग्रामीणों के बीच मारपीट एवं वाहन क्षतिग्रस्त हुए जिसके उपरांत थाने में f.i.r. किया गया जिसमें कुछ लोग नामजद और कुछ अज्ञात लोगों का नाम दिया गया और एक तरफ की लोगों का चालान किया गया जोकि सरासर गलत है।क्योंकि मारपीट दोनों तरफ से हुई थी इसलिए चालान भी दोनों तरफ से होना चाहिए था लेकिन ऐसा नहीं हुआ और स्थानीय पुलिस द्वारा एकतरफा कार्रवाई करते हुए एक पक्ष का चालान कर दिया जबकि कोई भी यात्रा निकलती है तो उस यात्रा के आगे पुलिस स्कार्ट लगता है या फिर कोई न कोई पुलिस प्रशासन की व्यवस्था होती है जो कि इसमें नहीं था और जिसकी वजह से इतनी बड़ी घटना हो गयी। अगर प्रशासन पहले से ही इसकी व्यवस्था किया होता तो सायद यह घटना घटित नही हुई होती।जिसको लेकर के स्थानीय लोग और संगठन में काफी आक्रोश है।अतःसारे मामले की गंभीरता को समझते हुए इसकी स्वच्छ एवं उच्च अधिकारियों से जांच कराई जाए ताकि जिससे पीड़ित पक्ष को भी न्याय मिल सके अगर ऐसा नहीं हुआ तो संगठन के कार्यकर्ता एवं स्थानीय लोग न्याय पाने के लिए आंदोलन के लिए बाध्य होंगे जिसकी सारी की सारी जिम्मेदारी शासन प्रशासन की होगी।इस मौके पर जिला उपाध्यक्ष राकेश सिंह,विशाल सिंह,तकदीर सिंह,मनीष सिंह, तारकेश्वर सिंह सिंघम,धनंजय सिंह,उत्पल सिंह आदि मौजूद रहे।