यह समय माता भगवती की आराधना और उपासना के लिए अत्यन्त शुभ:यति जी महाराज

76

मनिहारी गाजीपुर।सिद्धपीठ हथियाराम मठ की शाखा कालीधाम हरिहरपुर में स्थित दक्षिण मुखी मां काली मंदिर श्रद्धालुओं के आस्था का केन्द्र है। मंदिर में स्थापित मां काली की तीन मूर्तियां अत्यन्त महत्वपूर्ण हैं।वासन्तिक नवरात्र में कालीधाम हरिहरपुर में सिद्धपीठ हथियाराम पीठ के पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर भवानी नन्दन यति जी महाराज के संरक्षकत्व में चल रहे अनुष्ठान के दौरान वाराणसी के आए विद्यान ब्राम्हणों के द्वारा जहां मंत्रोच्चार के बीच हवन कुण्ड में आहूति दी जा रही हैं,वही श्रद्धालु यज्ञ मंडप की परिक्रमा करके पुण्य लाभ के भागी बन रहे हैं।पीठाधीश्वर भवानी नन्दन यति जी महाराज ने परंपरागत हरिहारात्मक पूजन करने के उपरांत श्रद्धालूओं से बासंतिक नवरात्र पर चर्चा करते हुए कहा कि यह समय माता भगवती की आराधना और उपासना के लिए अत्यन्त शुभ माना जाता है। चैत्र माह में प्रकृति भी आह्लादित होती है। हर तरफ नये जीवन का, एक नई उम्मीद का बीज अंकुरित होने लगता है। नवीनता युक्त इस मौसम में प्राणियों में एक नई उर्जा का संचार होता है।वहीं जो लोग प्रतिदिन मां की पूजा-अर्चना करते हैं उनके काम, क्रोध, मोह आदि भीतरी विकार दूर हो जाते हैं।उन्होंने कहा कि मां भगवती की साधना जीवन मे नई ऊर्जा देती है।इस अवसर पर डा.सानंद‌ सिह,पूर्व जिला पंचायत सदस्य रमेश यादव,अशोक सिंह पप्पू,एडीओ पंचायत मनिहारी दीनानाथ,दिग्विजय उपाध्याय,अमित सिंह डब्बू,शशि दुबे,अशोक सिंह, अंकित सिंह, रमेश सिंह,संजय यादव आदि उपस्थित रहे।