राधा कृष्ण महाविद्यालय के परिसर में वोटरों ने खाई कसमें

138

मरदह गाजीपुर।शिक्षा,सुरक्षा, चिकित्सा को चुनाव में देंगे तवज्जो,विधानसभा चुनाव को लेकर प्रत्याशी जहां पूरी ताकत झोंक रहे हैं।वहीं मतदाता भी जनप्रतिनिधियों को लेकर खुलकर बोल रहे शिक्षा, चिकित्सा,वित्तविहीन शिक्षकों को मानदेय,पेंशन आदि मुद्दों पर अपनी सरकार चुनने वोटर अड्डा की बात कही।अधिकांश शिक्षकों और छात्रों का मत था कि अभी तक किसी भी सरकार ने छात्रों के हितों पर बहुत ध्यान नहीं दिया।रविवार को सुन्दरपुर हालपुर गोविन्दपुर कीरत गांव स्थित श्री राधा कृष्ण महाविद्यालय के प्रांगण पर चुनावी अड्डा कार्यक्रम के दौरान चर्चा में शामिल शिक्षकों और छात्रों ने कहा कि चुनाव का दौर है,ऐसे में हर वर्ग आने वाली सरकार से बहुत उम्मीदें लगाए हुए है।छात्रों और शिक्षकों के हितों के लिए किसी सरकार ने कुछ विषेश ध्यान नहीं दिया। छात्रों और शिक्षकों की सुरक्षा,शिक्षा,पेंशन,चिकित्सा, वित्तविहीन शिक्षकों के मानदेय जैसी सुविधाएं दिलाने वाली सरकार की दरकार है।उसी राजनीतिक दल और प्रत्याशी को वोट दिया जाएगा।

बेरोजगार छात्राओं को प्रोत्साहन राशि देने वाली सरकार चाहिए।सरकार युवाओं के लिए रोजगार पैदा करने वाली होनी चाहिए।जिससे युवा पढ़ लिख कर रोजगार पा सके।अपने आप को स्थापित कर सकें। वर्तमान में युवा रोजगार के लिए इधर उधर भटक रहा है। – उजाला गुप्ता

तकनीकी पढ़ाई बहुत मंहगी होती जा रही है।बहुत से युवक युवतियां तकनीकी पढाई करना चाहते हैं लेकिन फीस मंहगी होने के कारण अपना एडमिशन नहीं करा पा रहे हैं।मेडिकल सहित अन्य कोर्स की पढ़ाई की फीस कम की जाए।- सविता कुमारी

छात्रों की आवाज उठाने वाले को वोट देंगे सरकार ऐसी होनी चाहिए,जो कि सर्वसमाज को साथ लेकर चलें।छात्राओं की सामाजिक सुरक्षा भी सरकार का ही दायित्व है।इसलिए वह छात्रों के हितों को मुखर होकर में उठाने का भरोसा दिलाने वाले राजनीतिक दल का ही समर्थन करेंगे।- आरती शर्मा

शिक्षक स्वस्थ समाज के निर्माण में अहम भूमिका निभाते हैं,साथ ही सर्व समाज को एक सूत्र में पिरोते हुए,कम संसाधन में भी एक समान शिक्षा देने का कार्य करते हैं,हम उचित योग्यता रखते हैं फिर भी सरकार हम पर ध्यान नहीं देती है।हम वोट जरूर डालेंगे पर वोट उसी को देंगे जो हमारे लिए कुछ करेगा।- सुबेदार यादव

जो हमारी रोजी-रोटी की व्यवस्था करेगा हम वोट उसी को देंगे कोरोना महामारी की वजह से हम मारे दो साल से स्कूल बंद हैं। वित्तविहीन शिक्षकों की दशा बद से बदतर हो गई है इस पर सरकार का ध्यान नहीं है। वित्तविहीन शिक्षकों के हित का ध्यान रखने वाले को ही वोट किया जाएगा। – संजय सिंह यादव

महिला सुरक्षा को लेकर बनाए गए कानूनों का सख्ती से पालन होना चाहिए।आने वाली नयी सरकार हैं, शिक्षकों और छात्रों ने शिक्षा,सुरक्षा,सरकार से उम्मीद करते हैं वह विधानसभा में उन कानूनों को पारित कराएगी,जो कि महिलाओं को अधिक अधिकार प्रदान करेंगे।महिला शिक्षकों और छात्रों को भी सुरक्षा और सम्मान मिले।- लालसा कुमारी

शिक्षा के क्षेत्र में विकास करने वाली सरकार चुनेंगे। रोजगार के नए आयाम लाए।भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने का काम करे बातें कम काम ज्यादा करे। महिलाओं के सुरक्षा की व्यवस्था करे,ऐसी सरकार होनी चाहिए।सबसे बड़ी बात शासक सुशिक्षित हो, राज्य खुद ठीक चलेगा।- कंचन गुप्ता

आज तक किसी भी सरकार ने निजी स्कूलों के शिक्षकों के जीविका के संबंध में कभी भी ध्यान नहीं दिया।ऐसे में अब वित्तविहीन शिक्षक ने यह निर्णय लिया है जो दल उनके पारिश्रमिक जीविका के बारे में बात करेगा,उसी को वित्तविहीन शिक्षक संघ समर्थन करेगा।- वीर बहादुर यादव

राजनैतिक दलों द्वारा चुनाव के वक्त कई तरह के लुभावने वादे किए जाते हैं।कोई फ्री राशन की बात करता है तो कोई फ्री बिजली की बात करता है।ऐसे में फ्री शिक्षा देने की भी बात होनी चाहिए।जब समाज शिक्षित होगा,तभी समाज से बुराइयों को दूर किया जा सकता है।इस बार वोट उसे ही देंगे,जो शिक्षा और शिक्षक की बात करेगा।- शेषनाथ यादव

प्रदेश में ऐसी सरकार बननी चाहिए जो धर्म एवं जाति से ऊपर उठकर विकास के लिए काम करे। राजनीतिक दलों के एजेंडे में छात्रों को रोजगार और सुविधाएं मुहैया कराना शामिल हो जिससे जनता को भी लाभ मिलेगा।विधानसभा चुनाव में छात्रों के हितों की पैरवी करने वाले को प्राथमिकता देंगे।- शशीकला भारती