रामकोला के किसानों पर गोलियां क्यों चलाई गयी थी :जगदम्बिका पाल

195

गाजीपुर।रामकोला के किसानों पर गोलियां क्यों चलाई गयी थी ?2012 से 2017 तक प्रदेश मे इटावा,मैनपुरी, कन्नौज, रामपुर, आजमगढ़ जैसे सिर्फ 5 जनपदों को 24 घंटे बिजली की व्यवस्था देने वाली सरकार मे बाकी पुरे प्रदेश को सिर्फ 5 घंटे ही बिजली क्यो मिलती रही ? यह प्रश्न जनता के समक्ष छोडते हुए भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता, सांसद पुर्व मुख्यमंत्री जगदम्बिका पाल ने आज भाजपा किसान मोर्चा द्वारा जंगीपुर कृषि मंडी मे आयोजित जिला किसान सम्मेलन मे बतौर मुख्य अतिथि कही उन्होंने कहा की जिस गाजीपुर की पहचान प्रदेश तक नही थी आज उसकी पहचान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व मे मनोज सिन्हा जी के कार्यों से पुरे देश मे हो गई है। उन्होंने समाजवादी पार्टी के स्वार्थवादी राजनीति पर चोट करते हुए कहा की रोड के निर्माण के नाम पर सरकार के मुखिया और उनके परिवार के लोगों की राजनीति चमक सके इसके लिए राजधानी से उनके घरों सैफई, इटावा, मैनपुरी और कन्नौज को जोडने वाले आगरा एक्सप्रेस वे का निर्माण करवाया गया इससे बडा स्वार्थ की राजनीति क्या हो सकती है,यह बात उत्तर प्रदेश की जनता यह सब भुली नही है।आज गाजीपुर से लखनऊ की दुरी कम हुई है,प्रदेश के सभी जनपदों को 20 से 22 घंटे 24 घंटे बिजली मिल रही है सरकार की योजनाओं का लाभ पात्रता के आधार पर अगर सबको समान रुप से मिल रहा है तो इसके पिछे मात्र एक कारण है और वह है व्यवस्था बदल गयी क्योंकि 2017 मे प्रदेश की सरकार बदल गयी। विपक्षी नेताओं को ललकारते हुए उन्होंने कहा की सब कुछ तो देख लिए किससे किससे नही गठबंधन किए पर कोई फायदा ऐसे लोगों को होने वाला नही है और ओमप्रकाश राजभर के बारे मे कहा की अगर विगत चुनाव मे भाजपा की वैशाखी नही मिली होती तो वह कभी विधायक भी नही बन सकते थे। पुर्व मुख्यमंत्री जगदम्बिका पाल ने कहा की उन्होंने भाजपा सरकारों को किसान हितैषी बताते हुए कहा की पुर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह ने पति के मृत्यु के बाद जमीन के वरासत मे महिलाओं को अगर जोडा तो राजनाथ जी की सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड दिया तथा योगी आदित्यनाथ ने किसानो के सभी कर्ज को माफ करते हुए भाजपा ने किसान सम्मान निधि दिया। यह खैरात और सहयोग नही बल्कि किसान भगवान है इस नाते अपने भगवान का सम्मान किया ताकी छोटी जरुरतों पर उन्हें कही जाना न पडे।

पिछडा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष प्रभुनाथ चौहान ने किसानों के निष्ठा व समस्याओं मे भी अडिगता पर आधारित कल्याण सिंह जी की कविता सुराखों से भले पानी टपके,भिंगे भले तेरी खटिया रे — से सम्बोधन शुरुआत कर कहा की किसान हमे आक्सीजन, पानी,अन्न प्रदान करता है,उसकी व्यवस्था करता है, किसान भगवान है।और उसके हितैषी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं।

विधान परिषद सदस्य विशाल स़िह चंचल ने कहा की भाजपा सरकार मे गाजीपुर के किसानों के विकास की कड़ी मजबूत हुई है और इस दौरान पुरे प्रदेश का किसान आधुनिक सुख सुविधाओं के साथ बेहतर जीवन का आधार प्रशस्त हुआ है और बड़े किसानों के साथ साथ छोटे किसानों का सम्मान भी बढ़ा है।

पुर्व मंत्री विजय कुमार मिश्र ने कहा कि मेरे राजनीति मे आने के सपने को भारतीय जनता पार्टी की सरकारों ने पुर्ण किया है और देश की ऐतिहासिक धार्मिक,अध्यात्मिक, धरोहरों को ऊँचाई प्रदान की है।

जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह ने कहा की भाजपा की सरकार ने उत्तर प्रदेश मे व्यापारियों, किसानों, माताओं, बहनों की सुरक्षा के प्रति कानून व्यवस्था मजबूत कर भय मुक्त वातावरण की स्थापना करते हुए सर्वांगीण विकास सहित समाज मे सबके सम्मान को मजबूत किया है।

किसान मोर्चा के प्रदेश कोषाध्यक्ष डा विजय यादव ने भी सम्मेलन को सम्बोधित किया।

सम्मेलन स्थल पर जिलाध्यक्ष रूद्र प्रताप सिंह एवं आमोद श्रीवास्तव ने किसानों के पांव पखारे तो वहीं मुख्य अतिथि ने माल्यार्पण कर उनका सम्मान किया।

अध्यक्षता किसान मोर्चा अध्यक्ष रूद्र प्रताप सिंह,और संचालन श्यामराज तिवारी ने किया।

इस अवसर पर क्षेत्रीय उपाधयक्ष सरोज कुशवाहा,वृजेन्द्र राय,राजन सिंह, रामनरेश कुशवाहा,ओमप्रकाश राय,प्रवीण सिंह,अवधेश राजभर,अच्छेलाल गुप्ता, राजकुमार झंवर,जिला मीडिया प्रभारी शशिकान्त शर्मा,बीके त्रिवेदी, कृष्णानन्द राय,संकठा मिश्रा,चतुर्भुज चौबे,हरेन्द्र यादव,सुरेश बिंद,शैलेष राम,विश्वप्रकाश अकेला,हिमांशु सिंह,सत्यदेव यादव,बबलू सिंह,शैलेंद्र सिंह,शुभांशु मिश्रा,पूनम मौर्य,किरन सिंह,रंजू शर्मा,पप्पू सिंह,त्रिलोकी कुशवाहा, दीपक सिंह,दुर्गेश सिंह,मन्नू सिंह,राधेश्याम शर्मा, धनन्जय चौबे सहित आदि अन्य लोग उपस्थित थे।