लता जी प्रेरणा देकर गई जीवन में संघर्ष करें और लक्ष्य को प्राप्त करें : मनोज कुमार सिंह

190

मरदह गाजीपुर।सोमवार को क्षेत्र के शिवपूजन सिंह इंटर कॉलेज केलहीं के प्रांगण में स्वर कोकिला लता मंगेशकर जी (दीदी) के निधन के उपरांत भावभीनी श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।जहाँ उपस्थित छात्र छात्राओं व अध्यापकों सहित विद्यालय के प्रधानाचार्य मनोज कुमार सिंह लता जी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी।इस अवसर पर प्रधानाचार्य मनोज कुमार सिंह ने स्व.लता जी के जीवन पर विस्तार पूर्वक प्रकाश डालते हुए कहा कि

आज हम सबके बीच से मां सरस्वती की जीती जागती प्रति मूर्ति नहीं रही आपकी प्रतिभा और ज्ञान से सारा विश्व परिचित है आप साक्षात कोकिला स्वरूपा थी लता जी का शरीर शांत हो गया हो गया।लगभग पाँच पीढ़ियों ने उन्हें मंत्रमुग्ध हो कर सुना है, और हृदय से सम्मान दिया है।उनके पिता ने जब अपने अंतिम समय में घर की बागडोर उनके हाथों में थमाई थी तब उस तेरह वर्ष की नन्ही जान के कंधे पर छोटे छोटे चार बहन-भाइयों के पालन की जिम्मेदारी थी।लता जी ने अपना समस्त जीवन उन चारों को ही समर्पित कर दियाऔर आज जब वे गयी हैं तो उनका परिवार भारत के सबसे सम्मानित प्रतिष्ठित परिवारों में से एक है। किसी भी व्यक्ति का जीवन इससे अधिक सफल क्या होगा लोगों को प्रेरणा देकर गई जीवन में संघर्ष करें और लक्ष्य को भी प्राप्त करें कुछ भी असंभव नहीं है आपने वह करके दिखाया।भारत पिछले अस्सी वर्षों से लता जी के गीतों के साथ जी रहा है।हर्ष में विषाद में ईश्वर भक्ति में राष्ट्र भक्ति में,प्रेम में,परिहास में हर भाव में लता जी का स्वर हमारा स्वर बना है।इस मौके पर अभय कुमार सिंह,प्रदीप पति पांडेय,मनोज कुमार चौबे,मुकेश कुमार,रंजीत सिंह,मनोज कुमार,सतीश सिंह,गोपाल यादव,शैलेंद्र प्रजापति,भूपेंद्र यादव,संदीप यादव आदि लोग मौजूद रहे।