विद्यार्थियों को हर वक्त वैज्ञानिक शैली अपनाना चाहिए:प्रो. गुरूप्रसाद सिंह

197

मरदह गाजीपुर।कुंवर इंटर कॉलेज के नरवर के परिसर में श्री ब्रह्मजी शिक्षा एवं समाज कल्याण समिति द्वारा तीन दिवसीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय भारत सरकार द्वारा प्रायोजित विज्ञान जागरूकता मेले का आयोजन बुधवार को शुरू किया गया।कार्यक्रम की शुरुआत मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित के साथ प्रथम दिवस शुभारंभ हुआ। मुख्य अतिथि प्रोफेसर गुरू प्रसाद सिंह काशी हिन्दू विश्वविद्यालय वाराणसी ने व्याख्यान के माध्यम से बच्चों को वैज्ञानिक शैली अपनाने पर जोर दिया गया।

अपने सम्बोधन में छात्रा छात्राओं को दैनिक जीवन में विज्ञान के प्रयोग तथा उनकी उपयोगिता के बारे में बताया।डा.धर्मेन्द्र कुमार सिंह वरिष्ठ वैज्ञानिक कृषि विज्ञान केंद्र गाजीपुर ने कृषि क्षेत्र में विज्ञान की उपयोगिता तथा वैज्ञानिक प्रयोगों के माध्यम से आम किसान और ग्रामीण जीवन में बेहतर जीवन स्तर तथा पर्यावरण संरक्षण पर विस्तार पूर्वक जानकारी दी।

पशु पक्षियों के व्यवहार का ज्ञान देते हुए पर्यावरण संरक्षण और प्रकृति की रक्षा करने का छात्र छात्राओं से आवाह्न किया।डा.फणेन्द्र पाण्डेय वैज्ञानिक बी.एच.यू ने विस्तार पूर्वक प्रकाश डालते हुए भौतिकी के आधुनिक आविष्कारों तथा ग्रामीण जीवन में व्याप्त कुरीतियों,अंध विश्वासों,को विज्ञान के माध्यम से कैसे दूर किया जाए इस पर विचार रखा।वैज्ञानिकों व शिक्षाविदों के जीवन की प्रेरक घटनाओं के बारे में बताकर उन्हें विज्ञान के क्षेत्र में अध्ययन और शोध करने कि बात कहीं।प्रतिभागियों को कार्यक्रम के महत्व से अवगत कराया उनकी विज्ञान परियोजनाओं का समन्वय किया तथा उनका फीडबैक प्राप्त किया।इस अवसर पर कोवार्डिनेटर संजय कुमार चतुर्वेदी,प्रेमचंद सिंह,अंगद, जयप्रकाश,सुर्दशन,कालिका,कौशल चतुर्वेदी,अविनाश चौबे,अंशू आदि लोग मौजूद रहे।