विवेक कुमार सिंह ने किया जिले का नाम रोशन

230

गाजीपुर।ख्वाजा मुईनुद्दीन चिश्ती भाषा विश्वविद्यालय के लिए आयोजित छठे दीक्षांत समारोह की वजह से खास था। दीक्षांत समारोह में मेधावियों की मेहनत का प्रतिफल डिग्री और पदक के रूप में दिया गया।राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल की अध्यक्षता में हुए समारोह में स्नातक और परास्नातक के 734 विद्यार्थियों को उपाधियां और 93 मेधावियों को स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक से नवाजा गया।जिसमें कासीमाबाद तहसील क्षेत्र के सिधागरघाट गांव निवासी व पचोतर नेशनल इण्टर कालेज मरदह के नागरिक शास्र के प्रवक्ता शशीकान्त सिंह के बड़े पुत्र विवेक कुमार सिंह को शिक्षा शास्त्र विभाग के बीएड पाठ्यक्रम में प्रथम स्थान अर्जित करने पर कुला धिपति पदक दिया।जिसमें चांसलर गोल्ड सहित तीन गोल्ड मेडल मिला।अपने कामयाबी पर माता पिता व गुरूजनों को श्रेय देते हुए विवेक कुमार सिंह ने कहा कि एक मेडल की उम्मीद थी लेकिन तीन गोल्ड मेडल मिलने की सूचना पर यकीन नहीं हो रहा था।यह सब कुछ शिक्षक पिता शशिकान्त सिंह और माता प्रभा सिंह के साथ गुरुजनों के आशीर्वाद से मिला है।आगे शिक्षा के क्षेत्र में ही प्रशासनिक सेवा में काम करना है। सरकार से आशा है कि वह युवाओं को रोजगार के बेहतर अवसर उपलब्ध कराएंगी।हम विकास के पथ पर आगे बढ़ेंगे।इस कामयाबी से जिले का मान बढ़ा वही दूसरी ओर विवेक कुमार सिंह सहित परिवारजनों को बधाई देने का तांता लगा हुआ है।इस कामयाबी पर प्रसन्नता व्यक्त करने वालों में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा युवा के जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह, प्रधानाचार्य डा. मंजू सिंह,प्रबंधक योगेशचन्द्र सिंह, संजय सिंह, अजय सिंह,अमरनाथ सिंह,राहुल सिंह पत्रकार, भारतीय किसान यूनियन भानु गुट के जिलाध्यक्ष वेदप्रकाश सिंह उर्फ़ वेदू रहे।