एम्बुलेंस कर्मचारियों के सहयोग से महिला ने जना बच्ची 

171

मरदह गाजीपुर।दर्द से छटपटा रही एक महिला ने एंबुलेंस में ही बच्चे को जन्म दिया।एंबुलेंस कर्मचारियों ने परिजनों के सहयोग से सुरक्षित प्रसव कराया।जच्चा-बच्चा स्वस्थ बताए गए हैं।दोनों को नजदीक के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।जहाँ से प्राथमिक उपचार के बाद घर के लिए छोड़ दिया गया।मरदह ब्लाक के फेफरा गांव निवासी इन्द्रजीत चौहान की पत्नी नीलम चौहान 24 वर्ष को शुक्रवार की सुबह भोर में 4:10 को प्रसव पीड़ा हुई।स्वजन ने 102 एंबुलेंस सेवा को काल की।लगभग 20 मिनट में ही UP 41 G 2274 एंबुलेंस पहुंचकर महिला को सुलेमापुर देवकली गांव स्थित जच्चा बच्चा केन्द्र पहुंचने वाली ही थी की ।थोड़ी देर बाद ही महिला को एंबुलेंस में पीड़ा ज्यादा बढ़ गई।पायलट बृजलाल यादव ने रास्ते में ही एंबुलेंस को रोक दिया और ईएमटी (इमरजेंसी मेडिकल तक्नीशियन)रविन्द्र राजभर ने डिलीवरी किट के माध्यम से महिला का सुरक्षित प्रसव कराया।नीलम चौहान ने बेटी को जन्म दिया।इसके बाद जच्चा-बच्चा को नजदीक के स्वास्थ्य केंद्र मरदह में भर्ती कराया,जहां दोनों स्वस्थ हैं।इस दौरान पायलट बृजलाल यादव और ईएमटी रविन्द्र राजभर व हेल्प डेक्स में धर्मेन्द्र यादव की भूमिका अहम रही।इस सराहनीय कार्य के लिए प्रभारी चिकित्साधिकारी डा.सरफराज आलम, डा. अशोक कुमार सिंह व स्टाप नर्स व आशा ने काफी प्रशंसा व्यक्त किया।