सेंट्रल बार एसोसिएशन का शपथ ग्रहण समारोह सम्पन्न 

132

कासिमाबाद गाजीपुर।सेंट्रल बार एसोसिएशन का शपथ ग्रहण समारोह मंगलवार को तहसील परिसर में आयोजित किया गया इस दौरान एसडीएम कमलेश कुमार सिंह ने नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई उन्होंने कहा कि यह अधिवक्तागण समाज के नायक हैं जो समाज के दबे कुचले लोगों को न्याय दिलाने का कार्य करते। नियम कानूनों की जानकारी आम जनमानस को नहीं होती है उस जनमानस की समस्या को अधिकारीगण के सामने व न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत करना पीड़ित वर्ग को न्याय दिलाने जैसे महत्वपूर्ण भूमिका रहता है अधिकारी व अधिवक्ता का मूल कर्तव्य है जनता की सेवा नियमों के परिपेक्ष में रहकर सबको न्याय दिलाने का कार्य करते हैं । तहसील के सभी कर्मचारी व अधिवक्ता गण मिलकर तहसील के बादकारियों को न्याय दिलाने का कार्य करें।दिल में सहायता की सोच रख कर वह व्यक्ति जो निर्धन है जिसका पैरवी करने वाला कोई नहीं है यानी अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति का उसकी हर प्रकार से सहायता करने का कार्य करें वही सच्ची समाज की सेवा होगी।मैं बार और बेंच को आश्वस्त करता हूं कि जो नवनिर्वाचित समिति गठित हुई है बार और बेंच के बीच सामंजस्य स्थापित रहेगा और मिलजुल कर समस्याओं का हल होगा तथा जनता के सभी समस्याओं का निजात दिलाने में सहयोग करेंगे। विशिष्ट अतिथि तहसीलदार अमित शेखर ने कहा कि अपने दायित्वों का निर्वहन के साथ बार बेंच को मजबूती मिलेगा।नायब तहसीलदार बृजेश कुमार सिंह ने कहा कि अधिवक्ता गण समाज के बुद्धिजीवी गण होते हैं जो न्याय किए व्यवस्था में मूल योगदान होता है क्योंकि आम जनमानस के लिए अधिवक्ता गण न्याय दिलाने में योगदान देते हैं बेंच और बार का सामंजस्य में योगदान महत्वपूर्ण होगा।साथ मिलकर कार्य होगा।नवनिर्वाचित सेंट्रल बार के तहसील अध्यक्ष बने विनोद सिंह ने कहा कि बार और बेंच में सामंजस्य बरकरार रखा जाएगा और वह अधिकारी अधिवक्ता हित में सतत प्रयासरत रहेंगे।इससे पूर्व उप जिलाधिकारी ने सेंट्रल बार एसोसिएशन के नवनिर्वाचित पदाधिकारियों अध्यक्ष विनोद सिंह,उपाध्यक्ष कन्हैया सिंह यादव,सचिव जयप्रकाश सिंह यादव,सह सचिव संतोष जायसवाल,कोषाध्यक्ष राजेश कुमार गौतम को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई।इस मौके पर पूर्व अध्यक्ष ओम प्रकाश श्रीवास्तव,संतोष कुमार,अजय श्रीवास्तव,योगेश यादव,मनोज कुमार,अनुज कुमार राय,कमलेश यादव,अभय,विनय सहित सभी अधिवक्ता गण मौजूद रहे।