सेना जवान की अर्थी को कंधा देने वालों का लगा तांता 

179

कासिमाबाद गाज़ीपुर।कोतवाली क्षेत्र के अंवराकोल निवासी आर्मी के जवान सत्यपाल सिंह कुशवाहा पुत्र रामकृत सिंह कुशवाहा का ड्यूटी के दौरान अचानक तबीयत खराब होने से मौत हो गई जिसको लेकर सेना के जवानों ने शनिवार के शाम करीब 4:30 बजे पैतृक गांव अंवराकोल पहुंचे जहां हजारों की संख्या में लोग एकत्र होकर जवान की प्रतीक्षा कर रहे थे दरवाजे पर शव पहुंचते ही परिजनों में कोहराम मच गया जवान को देखकर वहां उपस्थित सभी लोगों की आंखें नम हो गई।सेना के आये अधिकारी चन्नी प्रसाद ने बताया कि 14 मार्च की रात 10:00 बजे ये अपना ड्यूटी पर चेक करने गए थे रूम पर आने के बाद एक जवान ने बताया कि 2:00 बजे बाथरूम गए थे सुबह समय से न जगने पर व वेहोस मिलने पर एक जवान ने अधिकारियों को सूचित किया जवान को अमृतसर चिकित्सालय में भर्ती किया गया चिकित्सक के द्वारा चेक करने पर ब्रेन हेमरेज पाया गया। 16 मार्च को जवान की पत्नी शीला देवी भी वहां पहुंच गई थी वह 2 दिन उनके साथ हॉस्पिटल में रहीं। चंडी प्रसाद ने बताया कि 17 मार्च को रात 8:00 बजे जवान ने अंतिम सांस लिया। सत्यपाल सन 2000 में पीभीसी इंजीनियरिंग बाम्बे से सिपाही पद पर भर्ती हुआ था। इस समय वह हवलदार पद पर था परिजनों ने बताया कि 25 दिसंबर को घर आए थे एवं 1 जनवरी को पुनः ड्यूटी पर गए थे। सत्यपाल के दो भाई दीनदयाल नौकरी करते है एवं विश्वामित्र पढ़ाई करता है इनके दो लड़के शशी 12 वर्ष एवं सूरज 9 वर्ष के हैं। पिता रामकृत सिंह कुशवाहा, माता तारा देवी व पत्नी शीला देवी का रो रो कर बुरा हाल था।