स्व.शिवकुमार तिवारी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर भावपूर्ण भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई 

278

मजलूमों के सच्चे हितैषी बनकर जीवन भर समानता और सामाजिकता के पोषक बने

 

बिरनो गाजीपुर।विकास खंड के गहिली बसारिखपुर गांव निवासी कई शिक्षण के संस्थापक रहे स्व. शिवकुमार तिवारी पूर्व प्रधानाचार्य व ग्राम प्रधान की 30 वीं पुण्यतिथि पर शिवकुमार ग्रामीण बालिका इंटर कॉलेज के परिसर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया।जिसमें गांव सहित क्षेत्र में गणमान्य व्यक्तियों द्वारा स्व.शिवकुमार तिवारी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि देते हुए उनके जीवन पर प्रकाश डाला।कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में आम आदमी पार्टी के प्रदेश सचिव व श्री हरिशंकर स्नातकोत्तर महाविद्यालय जमुआरी बहलोलपुर, शिवकुमार ग्रामीण बालिका इंटर कॉलेज गहिली बसारिखपुर के प्रबंधक रविन्द्रनाथ त्रिपाठी ने स्व.शिवकुमार तिवारी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर भावपूर्ण भावभीनी श्रद्धांजलि दी।तथा कहाँ कि बड़े भाई स्व.तिवारी जी गरीबों,मजदूरों,किसानों व मजलूमों के सच्चे हितैषी बनकर जीवन भर समानता और सामाजिकता के पोषक बने रहे।आगे बताया कि हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी पुण्यतिथि के अवसर पर कोविड 19 के दृष्टिगत सीमित रूप से गांव के 100 लोगों को अंगवस्त्रम् के माल्यार्पण कर सम्मानित किया गया।तथा गांव के गरीब,निःसहाय,विधवा, दिव्यांग,मजदूर, कमजोर,किसान,महिला व पुरुष 200 सौ लोगों को कंबल वितरण किया गया।कार्यक्रम के संयोजक प्रभाशंकर त्रिपाठी ने कहा कि व्यक्ति के जीवन में दान अर्पित करने के रूप में वस्त्र व अन्न बहुत बड़ा महत्व रखता है मैं अपनी शक्ति अनुसार पिता जी के स्मृति में जरूरतमंद लोगों को कंबल व प्रसाद रूपी अन्न ग्रहण कराता आ रहा हूं।यह सेवा जीवन का पुण्य पुनीत कार्य हैं जो पारिवारिक परम्परा का निर्वहन परिवार के सभी सदस्य करते आ रहे हैं।और यह सिलसिला निरंतर चलता रहेगा।स्व.शिव कुमार तिवारी जी की धर्मपत्नी मालती देवी,बड़ी बहु प्रधानाध्यापिका मनोरमा त्रिपाठी,निर्मला तिवारी, वेदान्ती देवी,प्रशांत कुमार त्रिपाठी उर्फ पियूष,रितिक रंजन त्रिपाठी, प्रेमचंद सिंह,शब्जार दास,रामकुमार त्रिपाठी,इन्द्रजीत सिंह,उच्च प्राथमिक शिक्षक संघ मरदह ब्लाक अध्यक्ष वेदप्रकाश पांडेय,अशोक कुमार सिंह,उग्गन राजभर,पारसनाथ सिंह,सदानन्द प्रजापति,सुरजन राम,मजीद अहमद,नागेन्द्र यादव सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।