13 परिवारों की सकुशल विदाई हुई

34

गाजीपुर।परिवार परामर्श केंद्र गाज़ीपुर द्वारा पुलिस लाइंस गाजीपुर के प्रांगण में पुलिस अधीक्षक ओमवीर सिंह के कुशल निर्देशन में कुल 16 पारिवारिक विवाद प्रस्तुत हुए।इनमें मोनम देवी पत्नी रोहित कुमार निवासी दामोदरपुर डीहवा थाना करण्डा जनपद गाजीपुर की शिकायत थी कि उसके पति उसके मायके वालो से व्यवसाय करने के लिये रुपयो की मांग करते रहते है, इस पर पति को समझाकर विदाई करवाई गई।मंजू देवी पत्नी सुरेश बिन्द निवासी तलवल थाना सदर जनपद गाजीपुर की शिकायत थी कि उसके पति का जेठानी से अवैध सम्बन्ध है इस पर पति और जेठानी को समझाकर विदाई करवाई गई।आंचल कुमारी पत्नी बृजेश कुमार निवासी लखनचन्द्रपुर थाना करण्डा की शिकायत थी कि उसके पति कि पहले ही शादी हो चुकी थी जिसके दो लड़के भी थे जिसकी जानकारी उसके मायके वालो को नहीं थी।जब वह ससुराल गई तब उसकी जेठानी और पति उसके साथ अच्छा व्यवहार नही करते थे इस पर पति और जेठानी को समझाकर विदाई करवाई गई।बचली देवी पत्नी संदीप निवासी सगरा थाना नंदगंज की शिकायत थी कि उसके पति बात बात पर उसके साथ मारपीट करते रहते है। इस पर पति को समझाकर विदाई करवाई गई।मनीषा चौहान पत्नी सोनू चौहान निवासी संरवा थाना सरायलखन्सी मऊ की शिकायत थी कि उसके पति की मौसेरे भाई पति को उकसाकर उसके साथ मार-पीट करवाते रहते है इस पर पति व मौसेरे भाई को समझाकर विदाई करवाई गई।रिंकी दुबे पत्नी संतोष दूबे निवासी बासगांव सराय थाना तरवा आजमगढ की शिकायत थी कि उसके पति के द्वारा उसके चरित्र पर आरोप लगाया जाता है कि वह चरित्रहीन है इस पर पति को समझाकर विदाई करवाई गई ।प्रीति विश्वकर्मा पत्नी दुर्गेश विश्वकर्मा निवासी अकोल्ही थाना हलधरपुर मऊ की शिकायत थी कि उसके ससुराल पक्ष के लोग उसे शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना देते रहते है,इस पर पति और ससुराल पक्ष के लोगो को समझाकर विदाई करवाई गई।शाशिकला पत्नी पिंटू निवासी फतेहपुर नगवा थाना कासिमाबाद की शिकायत थी कि उसके जेठानी उसके पति को गुमराह कर हमेशा मारपीट करवाती रहती है, इस पर पति और ससुराल पक्ष के लोगो को समझाकर विदाई करवाई गई।सुशीला पत्नी अनूप कुमार निवासी बबेडी (विरहीमाबाद) थाना कोतवाली गाजीपुर की शिकायत थी कि उसके पति हमेशा शराब पीकर उसके साथ मारपीट करते रहते है। इस पर पति को समझाकर विदाई करवाई गई।अमिता पत्नी अर्जुन बिन्द निवासी चिलार थाना नंदगंज गाजीपुर की शिकायत थी कि उसके पति उसे अक्सर मारते पीटते रहते है इस पर पति को समझाकर विदाई करवाई गई इसी के क्रम मे ही अन्नू पत्नी निगम राम,अंजु पत्नी रंजीत कुशवाहा,चंचल पत्नी शशिकांत को भी समझाकर विदाई करवाई गई कुशलता के बाद दो प्रकरण बन्द कर दिये गये एक पारिवारिक विवाद में एक ही पक्ष उपस्थित था।इन सभी प्रकरण के निस्तारण मे महिला सहायता प्रकोष्ठ प्रभारी इंस्पेक्टर वीरेन्द्र कुमार वर्मा, विक्रमादित्य मिश्र,सरदार दर्शन सिंह,सरिता गुप्ता,सोनिया सिंह, वीरेन्द्रनाथ राम,महिला आरक्षी रोली, महिला आरक्षी रागिनी आरक्षी आलेश कुमार,महिला प्रांतीय रक्ष दल गीता आदि लोग प्रमुख थे।